https://amzn.to/3URbXJD google.com, pub-7605138174956848, DIRECT, f08c47fec0942fa0 pub-7605138174956848
top of page
  • लेखक की तस्वीरKamal Kafir

माँ बाप

अपडेट करने की तारीख: 5 मई 2023

माँ बाप उम्र दराज हो गए

बच्चो के लिए गिद्ध और बाज़ हो गए

पहले कहते थे माँ बाप ठीक कहते है

अब हर लफ़्ज़ पर ऐतराज़ हो गए


SHERO SHAYARI, LATEST SHAYARI, POEM RTC
माँ बाप , MOHTER AND FATHER

कमल किशोर "काफिर"

28 दृश्य0 टिप्पणी

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें

Kommentare


bottom of page