https://amzn.to/3URbXJD google.com, pub-7605138174956848, DIRECT, f08c47fec0942fa0 pub-7605138174956848
top of page

हर हादसे की मजम्मत करते रहो

हर हादसे की मजम्मत करते रहो

सारे दस्तूर गिर जाए मरम्मत करते रहो

तुम रखो खुश अपने आका ए सियासत

मर भी जाओ तो खिदमत करते रहो






शेरो शायरी , लेटेस्ट शायरी।  शेर
हर हादसे की मजम्मत करते रहो

कमल किशोर "काफिर"

4 दृश्य1 टिप्पणी

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें

1 Comment


Guest
May 14, 2023

GOOD

Like
bottom of page